Poetry

अश्क तेरे नाम का

 

मेरे जेहनो-दिमाग़ पर
हर पल कुछ यू
तेरे यादो का
पहरा सा है |
देख ले आ कर
ए-ज़ालिम-आशुफ्ताक
एक और अश्क
तेरे नाम का है |

Advertisements